Month: December 2019

कुँवारी बुर की चुदाई पहली बार

हाय दोस्तो, मेरा नाम सुमीत शर्मा है। वैसे तो मैं दतिया का रहने वाला हूं लेकिन मेरी जॉब के कारण फिलहाल इंदौर में रहता हूं। मेरी ऊंचाई 5 फुट 8 इंच है। मेरी शादी को दो साल हो चुके हैं। मेरी बीवी बहुत सुंदर है और मेरा बहुत खयाल रखने वाली है। हमारा वैवाहिक जीवन […]

पड़ोसन आंटी के साथ सेक्स का मजा

हमारे घर के पास वाले घर में एक परिवार रहता है. मैं उनको अंकल आंटी ही बोलता हूं. अंकल आंटी की शादी को अभी 7 साल ही हुए थे और उनके एक 3 साल का लड़का भी है। हमारे घर अगल बगल में ही है, तो हमारा उनसे संबंध घर जैसा ही है. आंटी हमारे […]

साली की चूत चुदाई के साथ पड़ोसन की गांड

मैं बिस्तर से उठा और बाथरूम की तरफ की बढ़ा ही था कि- दरवाज़ा खोल दीपक, खोल!अरे यह तो दादा जी की आवाज है!इतनी देर तक सोते हो? और वो कहाँ है?कौन? मैंने पूछा।तुम्हारी साली?अभी सो रही है। इतने में फ़ोन आया- मैं मम्मी के साथ आज यहाँ से बाजार जाऊँगी, तुम ऑफिस से वापिस […]

जब रुचिका को लगी लंड में रूची

हेल्लो दोस्तों एक बार फिर से हाज़िर हूँ आप सभी का मनोरंजन करने के लिए सेक्सी कहानियों की दुनिया के इस मंच पर, तो चलिए आज में आपको हाल ही में मेरे साथ बीती एक सच्ची कहानी के बारे में बताता हूँ। तो चलिए बढ़ते है कहानी की तरफ। कहीं बार ऐसा होता है कि […]

पड़ोसी डॉक्टर की बीवी की ठुकाई

हैल्लो दोस्तों, में साहिल आज आप सभी को अपने सबसे अच्छे सेक्स अनुभव के बारे में बताने जा रहा हूँ जिसमें मैंने अपने पड़ोसी डॉक्टर की मस्त सेक्सी पत्नी को चोदा. में लखनऊ में रहता हूँ और में दिखने में एकदम अच्छा हूँ. अब में सीधे अपनी उस घटना को सुनाता हूँ जिसको पढ़कर आप […]

शादीशुदा भाभी की कुंवारी चूत

मेरे साथ ये सच्ची घटना अभी 20-25 दिन पहले हुई है. दोस्तो, पर्सनल कारणों से मैं इस कहानी की नायिका का नाम और जगह के नाम काल्पनिक ही लिखूंगा ताकि किसी की पहचान छिपी ही रहे. उस दिन मैं ऑफिस में आपके काम में बिजी था. यही कोई दोपहर को 2 बजे के आसपास का […]

पड़ोसन भाभी के साथ चुदाई के मजे लिए

हेल्लो दोस्तो | आज मै आपको अपने पड़ोस पर रहने वाली एक भाभी के विषय में कुछ सुनाने के लिए जा रहा हूँ | मेरे पड़ोस पर एक भाभी रहा करती थी | उनके घर पर मै आसानी से आता और जाता था | एक दिन जब भाभी घर पर अकेली थी तब मैंने भाभी […]

दोस्त की कमसिन साली के साथ

मेरे भाई जान और भाभी 1998 में यू.एस चले गए थे  अब मैं घर पर अकेला ही रहता था! मैं अपने काम में मशगुल था, अपने आप में व्यस्त रहना शायद मुझे अच्छा लगता था! लेकिन कभी कभी अकेलापन खाने को भी दौड़ता था! मुझे याद है 2001 की, जब एक बार हमारी भाभी जान […]