बॉयफ्रेंड के दोस्तों ने मुझे रंडी बनाकर चोदा

हेलो दोस्तों, मेरा नाम सोनम है और मैं दिल्ली की रहने वाली हु। दोस्तों मेरी उम्र २३ साल है और मैं वकालत की पढाई कर रही हु। मैं शुरू से ही लम्बे और मोठे लंड की प्यासी हु। मेरे सील पहली बार टूटी जब मैं सिर्फ १६ साल की थी। जबसे लेकर आज तक मेरे काफी बॉयफ्रेंड रहे और मैंने खूब मज़ा भी किया। मैं पोर्न वीडियोस भी देखती हु, एक दिन देखते देखते मैं एक ग्रुप सेक्स पार्टी का वीडियो देखा जिससे देखकर मेरे अंदर अलग सा जोश भर गया। मैंने सोचा एक दिन ऐसी पार्टी में काफी लड़को से साथ मज़े करुँगी। 

हाल ही मुझे एक लड़के से प्यार हुआ है, हमारे रिलेशनशिप को एक साल हो चूका है। कुछ महीनो बाद हमारी शादी भी होने वाली है। यह कहानी है दिसंबर के महीने की। मेरे बॉयफ्रेंड का नाम सोनू है उसका कैसा हुआ बदन और इंच लम्बे लंड से चुदने बड़ा मज़ा आता है। ऐसी ठुकाई करता है की कभी कभी खून भी निकल जाता है। एक बार हम दोनों सेक्स कर रहे थे और सोनू झड़ चूका था। मैं भी थक गयी। मैं स्मोक करने लग गयी और वो मेरी कमर को किश कर रहा था। 

अचानक सोनू ने कहाजान ग्रुप सेक्स करे?”

मैंने कहापागल हो गए

सोनू ने उदास चेहरे से कहाप्लीज बेबी मान जाओ, काफी मज़ा आएगा

मैंने सोचा चलो मान ही जाते है वैसे भी मुझे ग्रुप सेक्स करना था। मेरी चुत के लिए कुछ और लंड भी मिलने वाले है, इस बात से मैं खुश भी थी। सोनू ने सारा प्लान बनाया। इस ग्रुप सेक्स में लड़के और उनकी गर्लफ्रेंड थे। सोनू एक होटल रूम बुक किया। ३१ दिसंबर की बात है, मैं घर से निकल गयी की पार्टी करने जा रही हु। मैंने उस दिन ब्लैक ब्रा और पैंटी साथ में एक बढ़िया वाला सलवार सूट भी पहना था। मैं उस दिन किसी रंडी से कम नहीं लग रही। मैं होटल पहुंची और वह पर सोनू के दोस्त लेकिन और कोई भी लड़की नहीं। 

मैंने सोनू से कहाबाकी लड़कियां कहा है

सोनू के एक दोस्त ने कहाऔर कोई नहीं आनेवाली, आपका ही इंतज़ार था भाभी

मैंने सोनू से क्यायह क्या बात है?

सोनू मेरी तरफ देखकर मुस्कुराने लग गया। मैं समज गयी की यह इन सब की कोई चाल है। मैं डर भी रही थी, मैं वह से निकलने लगी। इतने में सोनू ने कहाबेबी मत जाओ, प्लीज मूड बन चूका है सबका

मुझे आखिर में हां बोलना ही पड़ा। हम सबके बीच हसी मजाक हुई फिर दारू और वोडका की बोतल खुल गयी। हम सबने ड्रिंक करना चालू कर दिया। सोनू के मेरी चूचियों को दबाना शुरू किया, लड़कों को पहले से ही मेरी चूचियां पसंद थी। मेरी चूचियों का साइज ३८ था। सारे दोस्त मुझे और सोनू को देख रहे थे। सोनू बिलकुल दारु के नशे मेरी चूचियों को ज़ोर से दबा रहा था। शुरू में मुझे शर्म आने लग गयी लेकिन दारु के नशे में मेरी जवानी बहार निकल रही थी। 

सोनू ने मुझे उठाया और बेड पर लेता दिया। दारु के नशे में ही मेरी सलवार और सूट दोनों उतर गए। सोनू मेरी चूचियों को दबा रहा था ब्रा के ऊपर से। इतने में ही बाकी दोस्त आये और मेरी कमर की तरफ और झांगों पर किश कर रहे थे। मुझे उस वक़्त काफी मज़ा रहा था। सोनू के एक दोस्त रवि ने मेरी ब्रा उतार फेंकी और मेरी चूचियां बिलकुल नंगी हो गयी। सारे लड़कों के हाथ मेरी दोनों चूचियों पर थे और बड़ी ज़ोर ज़ोर से मसल रहे थे। मेरी सिसकियाँ अपने आप निकलने लग गयी। 

रवि ने मेरी चूचियों को सहलाते हुए कहासोनू यार भाभी तो बिलकुल मस्त माल है,,,आज पूरी रात हमारी है ?”

सोनू ने कहाहां दोस्तों,,आज के लिए यह तुम्हारी रंडी है

सुनने में तो मुझे बिलकुल अजीब लगा लेकिन मुझे क्या था वैसे भी मैं इन सब की रंडी ही थी उस रात के लिए। 

सोनू ने कहाजान लंड खड़ा है ज़रा अपने मुँह से सेहला दो

मैंने तुरंत सोनू का पैंट उतारा और उसका इंच लम्बे लंड अपनी जीब से सहलाना शुरू किया। कुछ वक़्त बाद मैं उसका पूरा लंड अपनी मुब में ले लिया। 

सोनू ने सिसकियाँ भरते हुए बोलैक्या गज़ब की रंडी हो तुम मेरी जान

सोनू के दूसरे दोस्त विक्की ने कहाभाभी जी ज़रा हमारा भी सेहला दीजिये

मैंने कहादेवर जी लाइन में लग जाइये, आपकी भी सेवा हो जाएगी

रवि तो मेरी चूचियों में मस्त था, वो मेरी निप्पल्स को पी रहा था। कुछ देर बाद सब लाइन में लग गए। सोनू तो मेरे मुँह में झड़ गया। फिर बारी थी विक्की की, जब मैंने इसका लंड देखा तोह देखती रह गयी। काफी मोटा और लम्बा, सोनू से भी बड़ा लंड था, ऐसे ही करकर मैंने सबके लंड को अपनी सेवा दी। देखा जाये तो सोनू के दोस्तों के लंड में ज़्यादा मज़ा था। 

सोनू के तीसरे दोस्त राज ने कहाभाभीजी आज रात के लिए आप हमारी रंडी है, यह बात आपको पता है

मैंने कहाहै देवर जी पता है

चारो बिलकुल तैयार थे और मैं उनके सामने बिलकुल नंगी। सारे लड़के भूके शेर और मेरे ऊपर चढ़ गए। सबसे पहले रवि ने मेरी चुत में ऊँगली डालना शुरू किया। बहुत ही मज़ा रहा था। सोनू मेरी गांड की खुशबू सुंग रहा था और चाट भी रहा था। सोनू को मेरी गांड भी बहुत पसंद है। विक्की मेरी चूचियों को मसल रहा था और राज अपनी लंड चुसवा रहा था। विक्की ने विशाल को हटाया और अब वो मेरी चुत में जीभ डालकर चाट रहा था। चारो लड़को से आप रुका नहीं जा रहा था। सबसे पहले मेरी जान सोनू ने मेरी चुत में लंड घुसाया निचे से। दूसरी तरफ विक्की ने मेरी गांड में लंड घुसा दिया। पहली बार दो लंड मेरी गांड और चुत में था, मुझे दर्द हो रहा था लेकिन इन् कुत्तो की लंड में मज़ा ही अलग था। 

दूसरी तरफ मैं राज और रवि सामने से अपनी लंड की चुसवाई करवा रहे थे। लेकिन अब मुझे दर्द होने लग गया था, सोनू और विककी काफी ज़ोर से पेल रहे थे। मैं चीला रही थीमादरचोदो धीरे, आराम से करो, पूरी रात पड़ी हैलेकिन वो दोनों दारु और चुदाई ने नशे में पागल थे। कुछ देर बाद मेरा लंड मज़े में बदल गया।  राज ने जल्दी से एक पेग पिलाया और अपनी लंड के साथ मेरे मुँह में घुसा दिया। स्वाद तो गज़ब का था। 

मैंने विककी से कहामादरचोद पहली बार चुत मिली है क्या

विक्की गुस्से में आकर कहारुक जा साली रंडी, तेरी माँ का भोसड़ा, तेरी चुत का आज रात भोसड़ा बना दूंगा

खूब गालीबाजी हो रही थी और सब जोश में थे। 

सोनू ने मुझे फिर सीधा लेता दिया और मेरे चुत में एक ज़ोर से धक्का लगा। मैं ज़ोर से चिलायीमुझे दर्द हो रहा है जान

बाकी तीनो लड़को के लंड मेरे मुँह में फस गए। तीनो ही अपना रस मेरे मुँह में दाल रहे थे। बहुत ही कड़वा स्वाद था। कुछ देर बाद राज ने मुझे अपनी ऊपर बैठाया और खूब ज़ोर से मेरी चुत को पेलने लगा और बाकी लड़के मेरे बदन को चुम रहे थे और मेरी गांड को चाट रहे थे। सोनू to बिलकुल थक चूका था। राज ने तो मुझे सच्ची कुटिया बना दिया। दूसरी तरफ रवि ने भी साथ में पीछे से लंड घुसा दिया। 

रवि ने कहादेख क्या गज़ब की रंडी है यह

राज ने कहाआज इसकी चुत फाड़ देंगे

मैं डरकर रोने लगी और कहाप्लीज दूर होजाओ, लेकिन वो मुझे एक कुटिया की तरह पेलते रहेराज और रवि दोनों ने मेरी चुत में से खून निकल दिया और साले उसको भी चाट रहे थे। विक्की फिर आया और कहाआजा कुटिया, तेरी गांड दिखा

मैंने कहा विक्की नहीं। विक्की से कहाचल हट मादरचोद, तू आज रात हम सबकी रंडी है

विक्की ने एक ज़ोर का धक्का लगाया और पूरा कमरा चीखों से भर गया। विक्की ने मेरी गांड को जमकर पेला। मैं अब तक काफी थक चुकी थी।

मैंने कहाबस अब नहीं, वर्ण मैं जा रही हु

सोनू ने कहाचलो, बस हो गया

लेकिन इन् सबने मुझे घेर लिया और ज़मीन पर बैठ दिया। सारे लड़के अपना लंड सेहला रहे थे और मेरे शरीर और मुँह को अपनी रस से भर दिया। मेरा मुँह और गले तक रस भर चूका था। विक्की ने कहाअभी नहीं दोस्तों, चलो भाभी को नेहला देते हैमुझे लगा बाथरूम में नेहला वाले है। उफ्फ्फ लेकिन नहीं, सोनू और उसके दोस्तों ने मेरे मुँह के ऊपर मूतने लग गया और मेरे पुरे बदन को अपनी मूत से नेहला दिया। 

दोस्तों यह थी मेरी सच्ची ग्रुप सेक्स की कहानी। हम सब ने खूब मज़े करे और मेरी तमन्ना भी पूरी हो गयी। उसके बाद कभी मैंने ग्रुप सेक्स नहीं किया। अब फिरसे प्लान बनाएंगे लेकिन इस बार काफी लड़के और लड़कियां होने वाली है।